वसीयत और नसीहत

“वसीयत और नसीहत” एक दौलतमंद इंसान ने अपने बेटे को वसीयत देते हुए कहा, “बेटा मेरे मरने के बाद मेरे पैरों में ये फटे हुऐ मोज़े (जुराबें) पहना देना, …

जीवन ऐसा हो जो संबंधों की कद्र करे

जीवन ऐसा हो जो- संबंधों की कदर करे, और संबंध ऐसे हो जो- याद करने को मजबूर कर दे..!! “दुनियां के रैन बसेरे में.. पता नही कितने दिन रहना …