Category: Quotes

तो यह है खुशी का पता….

बहुत दिन बाद पकड़ में आई… थोड़ी सी खुशी…तो पूछ लिया, “कहाँ रहती हो आजकल….ज्यादा मिलती नही?”, “यही तो हूँ” जवाब मिला। “बहुत भाव खाती हो…कुछ सीखो अपनी बहन …

मनुष्य की वास्तविक पूंजी

मनुष्य की वास्तविक पूंजी धन नहीं, बल्कि उसके विचार हैं, क्यों कि धन तो खरीदारी में दूसरों के पास चला जाता हैं, पर विचार अपने पास ही रहते हैं …