Category: Religious

प्राथना की शक्ति

एक वृद्ध महिला एक सब्जी की दुकान पर जाती है.उसके पास सब्जी खरीदने के पैसे नहीं होते.वो दुकानदार से प्रार्थना करती है कि उसे सब्जी उधार दे दे.पर दुकानदार …

प्रभु तर्क वालों को नही, श्रद्धा वालों को दिखते है

एक साधु महाराज श्री रामायण कथा सुना रहे थे। लोग आते और आनंद विभोर होकर जाते। साधु महाराज का नियम था, रोज कथा शुरू करने से पहले “आइए हनुमंत …

छहों दिशायों को प्रणाम करने का कारण/अर्थ

एक संत कहीं जा रहे थे। रास्ते में विश्राम के लिए एक नदी के किनारे रुके। देखा कि एक भिक्षुक स्नान कर रहा है। फिर उसने छह दिशाओं में …

शांति का सुगम मार्ग

जो संसार की माया चाहता है, वह सांसारिक पदार्थों में सुख को खोजता रहता है, किन्तु उसे मृग-मरीचिका की भाँति संसार में सुख नहीं मिलता है, क्योंकि सांसारिक पदार्थ …

जब भगवान करने लगे अपने भक्त का इंतजार

एक संत के पास बड़े सुंदर शालिग्राम भगवान् थे । वे संत उन शालिग्राम जी को हमेशा साथ ही लिए रहते थे और बड़े प्रेम से उनकी पूजा अर्चना …

प्रेम ………..

Radha Krishan Prem एक दिन रुक्मणी ने भोजन के बाद, श्री कृष्ण को दूध पीने को दिया। दूध ज्यादा गरम होने के कारण श्री कृष्ण के हृदय में लगा …

अंगद जी ने रावण को ऐसे चौदह व्यक्तियों के बारे में बताया, जो जीवित होकर भी मृत समान है

अंगद रावण के संवाद के समय अंगदजी ने रावण को बताया था कि निम्नलिखित चौदह व्यक्ति जीवित होते हुए भी मृत के समान हैं। गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित श्रीरामचरित …

नाथ सम्प्रदाय क्या है?

नाथ सम्प्रदाय क्या है? Nath Sampradaye प्राचीन काल से चले आ रहे नाथ संप्रदाय को गुरु मच्छेंद्र नाथ और उनके शिष्य गोरखनाथ ने पहली बार व्यवस्था दी। गोरखनाथ ने …

स्त्रियां नारियल क्यों नही फोड़ती

स्त्रियों को पूजा से संबधित कार्यो में कभी भी नारियल नहीं फोड़ना चाहिए Striyan  Nariyal Kyu Nahi Fodti आपने देखा होगा की अधिकत्तर शुभ कार्यो एवं धार्मिक संबंधित कार्यो …

श्री बिंदु जी पर कृपा

बात बहुत पुरानी नहीं है- वृन्दावन में गोस्वामी बिंदुजी महाराज नाम के एक भक्त रहते थे । वे काव्य रचना में प्रवीण थे । श्रीबिहारीजी महाराज उनके प्राणाराध्य थे …