एक हम है और एक दुनिया है…

एक हम हैं
जो समझे नहीं ख़ुदको अब तक,

और एक दुनिया है
जो पता नहीं हमें क्या-क्या समझती है।

Leave a Reply