कर्म ही असली भाग्य है

जीवन में किसी को रुलाकर
हवन भी करवाओगे तो
कोई फायदा नहीं

और अगर रोज किसी एक
आदमी को भी हँसा दिया तो
मेरे दोस्त
आपको अगरबत्ती भी
जलाने की जरुरत नहीं

कर्म ही असली भाग्य है.

Leave a Reply