प्राथना और विश्वास की ताकत

प्रार्थना और विश्वास
दोनों अदृश्य हैं,
परंतु….
दोनों में इतनी ताकत है की,
नामुमकिन को मुमकिन
बना देते हैं।

One Response

  1. manufacturer in kanpur September 26, 2017

Leave a Reply